Monthly Archives: August 2013

India’s Wisdom and modern Science

Modern science has come to the conclusion that all is one energy. Long ago, India’s wisdom came to the conclusion that all is one awareness/ consciousness, i.e. the one energy of science ‘knows itself’. It is not inert, not dead. So far, science either does not know about the claim of the Indian rishis or […]

जब जर्मनी ख्रिश्चन है तो क्या भारत हिन्दू है?

मैं काफ़ी अर्से से भारत में स्थित हूँ, फिर भी कई बाते समझने में मुझे अभी भी कठिनाई महसूस होती है। उदाहरण के लिए, जब भी भारत को एक हिन्दू देश मानने की बात होती है, तब बहुत सारे शिक्षित भारतीय क्यों उत्तेजित हो जाते हैं? भारत की बहुसंख्य जनता हिन्दू है। भारत की परंपराएँ […]